ग्लोबल वार्मिंग निबंध-Global Warming Essay in Hindi

Rate this post

ग्लोबल वार्मिंग एक वैश्विक पर्यावरणीय समस्या है। यह एक ऐसी समस्या है जिसे हल नहीं किया जा सकता है, लेकिन इसे प्रबंधित किया जा सकता है। वैश्विक तापमान में वृद्धि के साथ, कई लोग इस बारे में अधिक जागरूक हो रहे हैं कि ग्लोबल वार्मिंग उनके जीवन और दूसरों के जीवन को कितना प्रभावित कर रहा है।

ग्लोबल वार्मिंग हाल के दशकों में पृथ्वी के वायुमंडल और महासागरों के औसत तापमान में वृद्धि और इसकी अनुमानित निरंतरता है। ग्लोबल वार्मिंग शब्द का प्रयोग पहली बार 19वीं शताब्दी के अंत में किया गया था।

ग्लोबल वार्मिंग निबंध (Global Warming Essay in Hindi)

आज के युग में जहां मनुष्‍य दिनो दिन कहीं तरहकी नई नई तकनिक का विकास करता आ रहा है । विकास के लिए मनुष्य प्रकृति के साथ खिलवाड़ कर रहा है। जिसी वजह से प्रकृति के संतुलन को बने रहने में बहुत मुश्किल हो रही है। याही असंतुलान तरह की समस्याओ को पैदा करता है।

ग्लोबल वार्मिंग का अर्थ होता है लगातर तापमान का बढ़ना । यह प्रकिया वता वरण और धरती को अपने तपमन से ज्यादा गरम कर देती है।

ग्लोबल वार्मिंग का कारण 

ग्लोबल वार्मिंग के कारण होने वाले जल-वायु परिवर्तन के लिए सबसे अधिक जिमदार ग्रीनहाउस गैस होती है। ग्रीनहाउस गैस वे गैस होती है जो बाहर से मिल रही गरमी या उष्मा को अपने अंदर सोख लाती है। ग्रीनहाउस गैस में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण गैस कार्बन डाइऑक्साइड होती है।

See also  मेरा भारत महान निबंध-Mera Bharat Mahan Essay in Hindi

ग्लोबल वार्मिंग के लिए जिम्मेदार अधिकार मानव है जो निर्मित कार्य करता है, जिसका परिणाम विनाशकरी है जैसे-

  • वनो की कटाई
  • औद्योगीकरण
  • शहरकरणी
  • मानव के विभीन क्रियाएँ
  • हानिकारक योगिको में वृद्धि
  • रसायनिक उवराराको का उपयोग

ग्लोबल वार्मिंग के प्रभाव

आगर इस तरह से ग्लोबल वार्मिंग बढ़ती रहेगी तो जो भी बर्फीले स्थान है वह पिघल कर अपना अस्तित्व खो देंगे। आजकल गरमी और अधिक बढ़ती जा रही है। सरदी में थंड कम होती जा रही है। जब हम सर्वे को देखते हैं तो पता चलता है की पृथ्वी का तापमान धीरे-धीरे बढ़ता जा रहा है।

ग्लोबल वार्मिंग को रोकाने के उपाए 

सरकार को ग्लोबल वार्मिंग को नुकसान करने से रोकने के लिए लोगो को जागरुक करने का अभियान चलाना चाहिए। जागृति के अभियान का काम किसी भी एक राष्ट्र को करने से नहीं होगा। इस काम को हर राष्ट्र के द्वारा करना जरुरी है।

ग्लोबल वार्मिंग को काम करने के लिए जितने हो खातिर प्रयास करें। वृक्षरोपन के लिए लोगो को प्रोत्साहन करना चाहिए जिससे कार्बन डाइऑक्साइड की मटर को काम कर खातिर और प्रधान काम किया जा खातिर

Leave a Comment